कवि संपत सरल का जीवन परिचय | Sampat Saral (Poet) Biography In Hindi

Rate this post

कवि संपत सरल का जीवन परिचय, जन्म, काव्य विशेषता Sampat Saral (Poet) Biography, History, Story, Rchnaye, Books, TV Serial, Album In Hindi

आज संपत सरल के नाम से कौन नहीं परिचित है संपत सिंह शेखावत उर्फ संपत सरल आज यह नाम दुनिया भर में एक नायक के रूप में उभरा है उनका जन्म राजस्थान के एक छोटे से स्थान शेखावटी में 8 अप्रैल 1962 में हुआ था आज विश्व भर में उन्होंने अपनी पहचान एक व्यंग्यात्मक कवि के रूप में बनाई है.

उन्होंने आरंभिक शिक्षा अपने गांव के विद्यालय से ही प्राप्त की उसके बाद उन्होंने जयपुर से उच्च शिक्षा प्राप्त कर अपने B.Ed की शिक्षा राजस्थान यूनिवर्सिटी से प्राप्त की और आगे चलकर उन्होंने कवियों में अपनी एक अलग पहचान बनाई जिससे आज हम भलीभांति परिचित है आज यह एक नाम मात्र ही नहीं रह गया है बल्कि कवि जगत में एक योद्धा के रूप में देखा जा रहा है.

कवि संपत सरल का जीवन परिचय | Sampat Saral (Poet) Biography In Hindi

नाम (Name) संपत सिंह शेखावत
जन्म (Date of Birth) 8 अप्रैल 1962
जन्म स्थान (Birth Place) शेखावटी, राजस्थान
पिता का नाम (Father Name) ज्ञात नहीं
माता का नाम (Mother Name)ज्ञात नहीं
पत्नी का नाम (Wife Name)ज्ञात नहीं
पेशा (Occupation ) लेखक, कवि
शिक्षा (Education) B.Ed
भाषा शेली हिन्दी, राजस्थानी
टीवी नाटक (TV Serial) हम है ना
करम धरम
चक्कर पे चक्कर
बेटा बेटी के लिए
किताब (Books) छद्म विभूषण

संपत जी की रचनाएं :-

आज संपत जी को उभरते हुए रचनाकार के रूप में देखा जा रहा है उन्होंने हिंदी साहित्य रचना में अपनी एक अलग मुकाम हासिल किया है जिनमें उनकी महत्वपूर्ण लेखन शैल छदम विभूषण है उन्होंने हिंदी टेलीविजन धारावाहिकों में भी काफी नाम कमाया है जिसमें उनकी मुख्य कलाकृति बेटा बेटी के लिए, कर्म धर्म, हम हैं ना, आदि काफी चर्चित रही है कवि सम्मेलन एवं समारोह:-

2011 में आईआईटी खरगपुर में आयोजित समारोह में संपत सरल जी के साथ डॉ कुमार विश्वास और रमेश मुस्कान जैसे महान लोगों का भी योगदान रहा एवं उन्होंने यूएसए हांगकांग नेपाल सिंगापुर मैं भी अपनी व्यंग्यात्मक कृतियों का प्रदर्शन कर अपनी एक अलग पहचान बनाई है.

आधुनिक समय में संपत सरल जी की भूमिका

आज के आधुनिक समय में संपत सरल जी एक व्यंग्यात्मक कवि के रूप में दिखाई दे रहे हैं आज उन्हें सोशल मीडिया पर राजनीतिक मुद्दों एवं मसले पर तंज करते हुए एवं व्यंग्यात्मक रूप से व्याख्या करते हुए देखा जा रहा है एवं जनता द्वारा इसे काफी सराहा भी जा रहा है आज उन्होंने कवि जगत में अपनी एक अलग पहचान और मुकाम की रचना की है अतः आज उन्हें व्यंग्यात्मक एवं तंज कसते हुए नायक रूप में देखा जा रहा है.

About Author

https://jivanisangrah.com/

Jivani Sangrah

Explore JivaniSangrah.com for a rich collection of well-researched essays and biographies. Whether you're a student seeking inspiration or someone who loves stories about notable individuals, our site offers something for everyone. Dive into our content to enhance your knowledge of history, literature, science, and more.

Leave a Comment