Monday, August 15, 2022
Home एथलीट / Athletes सचिन तेंदुलकर जीवनी | Sachin Tendulkar Biography In Hindi

सचिन तेंदुलकर जीवनी | Sachin Tendulkar Biography In Hindi

Rate this post

सचिन तेंदुलकर जीवनी, बायोग्राफी, अचिवमेंट्स , पहला मैच (Sachin Tendulkar Biography, records, awards)

खेल जगत में क्रिकेट के बादशाह और जाने माने खिलाडी सचिन इंटरनेशनल क्रिकेट टीम के भूतपूर्व कप्तान रह चुके हैं। ये एक बेट्समेन हैं और ये क्रिकेट में आज तक सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाडी हैं। इनके चाहने वाले इन्हें क्रिकेट की दुनिया का भगवान कहते हैं। इन्हें चाहने वाले देश विदेश में फैले हुए हैं। इन्होंने अपनी काबिलियत और हुनर से क्रिकेट की दुनिया में अपना नाम अमर कर दिया। इन्हें भारत सरकार द्वारा कई पुरस्कारों से नवाजा गया है।

बिंदुजानकारी
नाम (Name)सचिन रमेश तेंदुलकर
निक नाम (Nick Name)क्रिकेट के भगवान , लिटिल मास्टर , मास्टर ब्लास्टर
व्यवसाय (Profession)क्रिकेटर
जन्म (Date of birth)24 अप्रैल 1973
राशी (Zodiac Sign)कुम्भ
नागरिकता (Nationality)भारतीय
होमटाउन (Home Town)मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
स्कूल(School)इंडियन एजुकेशनसोसाइटी , न्यू इंग्लिश स्कूल बांद्रा (पूर्व) , मुम्बई शारदाश्रम विद्यामंदिर स्कूल दादर , मुंबई
कॉलेज(college)खालसा कॉलेज मुंबई
धर्म (Religion)हिंदू
जाति(caste)ब्राम्हण
पता(Address)19 – ए , पैरी क्रॉस रोड , बांद्रा (वेस्ट ) मुंबई
हॉबी (Hobbies)वाचेज , परफ्यूम , सीडी कलेक्ट करना , संगीत सुनना
शिक्षा (Education Qualification)ड्रॉपआउट
मेरीटियल स्टेटस Marital status)विवाहिक
शादी की तारीख (Marriage date)24 मई 1995
बेटिंग स्टाइल (Batting Style)राईट हैंडेड
बोलिंग स्टाइल (Bowling Style)राईट-आर्म लेग स्पिन , ऑफ स्पिन , मीडियम पेस

सचिन तेंदुलकर शिक्षा , जन्म स्थान एवं पारिवारिक जानकारी ( Education , Early Life , Birth and Family)

इनका जन्म मुंबई के दादर के निर्मल नर्सिंग होम में एक महाराष्ट्रियन ब्राह्मण परिवार में हुआ था। इनके पिता एक मराठी नावेल लेखक थे और इनकी माँ एक इन्शुरेंस कंपनी में कार्य करती थी । ये चार भाई बहन थे 3 भाई और 1 बहन , सचिन सबसे छोटे थे , इनके तीनो भाई बहन इनके पिता जी की पहली पत्नी के बच्चे थे ।

सचिन तेंदुलकर पारिवारिक जानकारी संक्षिप्त में :

माता (Mother)रजनी तेदुलकर
पिता (Father)रमेश तेंदुलकर (मराठी नावेल लेखक)
भाई (Brother)अजित तेंदुलकर , नितिन तेंदुलकर
बहन (Sister)सविता तेंदुलकर
पत्नी (wife)अंजली तेंदुलकर
पुत्र (Son)अर्जुन तेंदुलकर
पुत्री (Doughter)सारा तेंदुलकर

सचिन तेंदुलकर की शिक्षा (Education) :

सचिन पढाई में बहुत अच्छे नहीं थे ये मध्यम श्रेणी के विद्यार्थी थे। इनकी आरंभिक शिक्षा बांद्रा की इन्डियन एजुकेशन सोसाइटी की न्यू इंग्लिश स्कूल में हुई । फिर क्रिकेट के प्रति इनकी रूचि देख कर इनके क्रिकेट के प्रशिक्षक रमाकांत आचरेकर के कहने पर इन्हें मुंबई के दादर की शारदाश्रम विद्या मंदिर में दाखिला दिलवाया गया । उच्च शिक्षा के लिए ये मुंबई के खालसा कॉलेज गए फिर इन्होने अपनी पढाई को बीच में ही विराम दिया और क्रिकेट को ही अपना मुकाम बनाया ।

सचिन का क्रिकेट की दुनिया में आगमन :

सचिन कहते है कि क्रिकेट उनका पहला प्यार है, वे इसे बहुत एन्जॉय करते है और इससे उन्हें एक नई उर्जा प्राप्त होती है . सचिन को बचपन से क्रिकेट खेलने का शौक था इनका मन पढाई में नही लगता था , ये सारा दिन अपनी बिल्डिंग के सामने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलते थे. शुरुआत में ये टेनिस बॉल से प्रेक्टिस करते थे , इनके बड़े भाई अजित तेंदुलकर ने इनका क्रिकेट के प्रति रुझान देखा और अपने पिताजी रमेश तेंदुलकर से चर्चा की. अजित ने कहा यदि हम सचिन को सही मार्गदर्शन करेंगे, तो यह क्रिकेट में कुछ अच्छा करने में सक्षम है. सचिन के पिताजी ने सचिन को बुलाया, तब वे केवल 12 वर्ष के थे और उन्होंने सचिन के मन की बात जानने की कोशिश की और उन्हें अपने भविष्य के बारे में फैसला लेने को कहा. सचिन का क्रिकेट के प्रति प्रेम देख कर उन्हें क्रिकेट का प्रशिक्षण के लिए दाखिला दिलवाया और फिर सीजन बॉल से इनकी प्रेक्टिस शुरू हुई । इनके पहले गुरु थे रमाकांत आचरेकर, रमाकांत सर ने इनके हुनर को देख इन्हें शारदाश्रम विद्यामंदिर हाई स्कूल में जाने के लिए कहा, क्योकि इस स्कूल की क्रिकेट टीम बहुत अच्छी है और यहाँ से कई अच्छे खिलाडी निकले है । आचरेकर सर इन्हें स्कूल के समय से अतिरिक्त सुबह और शाम को क्रिकेट की ट्रेनिंग देते थे । इनका कई टीमो में चयन हुआ।

सचिन तेंदुलकर की लव लाइफ और मेरिज लाइफ ( Love Life And Marriage ) :

इनकी पत्नी का नाम अंजली तेंदुलकर है , अंजली एक शिशु रोग विशेषज्ञ हैं और प्रसिद्ध उद्योगपति अशोक मेहता की बेटी है। सचिन का स्वाभाव कुछ शर्मीला सा है इसलिए इनकी प्रेम कहानी के बारे में इन्होने कुछ ज्यादा बातें कभी भी मीडिया के सामने नही की। इनकी पहली मुलाकात मुंबई एअरपोर्ट पर हुई और फिर दोबारा इनकी मुलाकात एक मित्र के यहाँ हुई, जो कि इन दोनों को जानता था, तब इन दोनो की बातचीत शुरू हुई। अंजली एक मेडिकल की छात्रा थीं उस समय उन्हें क्रिकेट में कोई दिलचस्पी नहीं थी। अंजली नहीं जानती थी कि सचिन एक क्रिकेटर हैं । जब मिलने जुलने का सिलसिला शुरू हुआ, तब अंजलि की क्रिकेट में रूचि जागने लगी। जब ये दोनों एक दुसरे से मिले तब अंजलि अपनी मेडिकल करियर में प्रेक्टिस कर रही थी और सचिन के क्रिकेट के सफ़र की शुरुआत हुई थी ।

जब सचिन ने अपनी एक पहचान बना ली थी और तब इनका मिलना इतना आसान नहीं था, क्योंकि ये जहाँ भी जाते थे सचिन के फैंस इन्हें घेर लेते थे । एक बार जब इन दोनों ने कुछ दोस्तों के साथ ” रोजा ” मूवी जाने का सोचा, लेकिन सिनेमा हॉल में अपने फैन्स के डर से सचिन ने नकली दाड़ी मुछ लगा कर थिएटर में गए पर इनके फेन इन्हें पहचान गए और इन्हें घेर लिया और ऑटोग्राफ लेने लगे ।

अंजलि बताती हैं की जब सचिन इंटरनेशनल टूर पर होते थे, तब सचिन से बात करने के लिए और इंटरनेशनल फोन का बिल बचाने के लिए सचिन को लव लेटर लिखती थीं ।इनका रिश्ता 5 साल तक रहा उसके बाद इन्होंने शादी करने का फैसला कर लिया , इनकी 24 मई 1995 में हुई । शादी के 2 साल बाद 12 अक्टूबर 1997 को इनके घर में बेटी का जन्म हुआ, जिसका नाम इन्होंने सारा तेंदुलकर रखा । उसके 2 साल बाद इनके घर में बेटे का जन्म हुआ जिसका नाम अर्जुन रखा गया और इनका परिवार पूरा हुआ । बच्चों के बाद अंजलि को अपना करियर बीच में ही रोकना पढ़ा उन्होंने सारा ध्यान अपने बच्चो की परवरिश में लगाया । इन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कहा है कि अपने करियर को छोड़ने का इन्हें कोई दुःख नहीं है ये अपने पति और बच्चों को समय देना ज्यादा पसंद करती है , और इन्होंने एक आदर्श माँ और पत्नी का फर्ज निभाया है और सफल वैवाहिक जीवन की स्थापना की है ।

लुक टेबल ( Look Table ):

लंबाई (Height)सेंटीमीटर मीटर में – 165 cm मीटर में – 1.65 mफीट में – 5’ 5’’
वजन (Weight)किलोग्राम में – 62 के जी पौंड में – 137 आई बी एस
शारीरिक बनावट (Figure)39-30 -12
आँखों का रंग (Eye color)गहरा भूरा
बालो का रंग (Hair Color)काला

सचिन तेंदुलकर का करियर (Career):

  • सचिन का क्रिकेट करियर सभी मौजूदा और आने वालें खिलाडियों के लिए मार्गदर्शन है। इसके लिए उनके पिता , भाई और सबसे महत्वपूर्ण उनके कोच सर आचरेकर ने मुख्य भूमिका निभाई है . सचिन बहुत ही परिश्रमी है उन्होंने इस मुकाम को हासिल करने में अपनी जी जान लगा दी ।
  • सन 1988 में इन्होंने राज्य स्तरीय मैच में मुंबई टीम से खेल कर अपने करियर का पहला शतक बनाया. इस मैच में इनका प्रदर्शन देख कर इनका चयन नेशनल लेवल पर हो गया . 11 महीने के बाद इंडिया पाकिस्तान के मैच में पहली बार इन्होंने इंडिया की तरफ से क्रिकेट खेला।
  • सचिन का फर्स्ट अंतरराष्ट्रीय मैच पाकिस्तान के साथ 16 वर्ष की उम्र में हुआ, तब इन्होने अपना जोरदार प्रदर्शन किया और इस मैच में इन्हें नाक पर चोट लगी और जोरदार खून निकलने लगा, लेकिन इन्होने हार नही मानी और अच्छा प्रदर्शन किया और पाकिस्तानी टीम के खिलाड़ियों के छक्के छुड़ा दिए ।
  • 1990 में इन्होंने अपना पहला टेस्ट मैच खेला, जो कि इंडिया और इंग्लैंड के बीच था . और यहाँ इन्होंने शतक बनाकर कम उम्र में शतक बनाने का रिकॉर्ड बनाया।
  • इनका प्रदर्शन से सभी मोहित थे, इसलिए इन्हें 1996 के वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया . 1998 में इन्होने कप्तानी छोड़ दी पर 1999 में ये दोबारा कप्तान बनाए गए , लेकिन इनकी कप्तानी टीम को रास नही आई और इन्होने 25 में से केवल 4 ही टेस्ट मैच में विजय प्राप्त की, इसलिए इन्होने कप्तान का पद त्याग दिया और दोबारा फिर कभी कप्तान नही बनने का फैसला लिया .
  • सन 2001 में वनडे मैच में दस हजार रन बनाने वाले ये प्रथम क्रिकेटर बने. 2003 का समय इनका सुनहरा समय था इनके चाहने वाले बड़ते जा रहे थे . 2003 में सचिन 11 मैचो में 673 रन बनाए और टीम इंडिया को विजय के छोर तक ले गए और सभी के पसंदीदा खिलाडी बन गए ।
  • वर्ल्डकप के फाइनल में इंडिया और आस्ट्रेलिया के बीच मैच हुआ जिसमे इंडिया की हार हुई, परंतु यहाँ सचिन को मेन ऑफ़ द मैच का ख़िताब मिला ।
  • इसके बाद सचिन ने कई मैच में हिस्सा लिया और एक समय इन्होने बहुत बुरा समय भी देखा जब इनके उपर मैच हराने का आरोप लगने लगे, पर इन्होने किसी भी बात पर ध्यान ना देते हुए अपने खेल पर ध्यान दिया और आगे बड़ते गए और ऊचाईयो के शिखर को छू लिया ।
  • 2007 में इन्होने टेस्ट मैच में ग्यारह हजार रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया. इसके बाद साल 2011 के वर्ल्ड कप में ये फिर अपनी पूरी ताकत के साथ सामने आए इन्होने दोहरा शतक मारा और सीरिज में 482 रन बनाए ।
  • दो हजार ग्यारह के वर्ल्ड कप फाइनल में इंडिया की जीत हुई. सचिन ने बचपन से जो सपना देखा वह साकार हुआ ये उनकी वर्ल्ड कप में पहली जीत थी ।
  • अपने करियर के सारे वर्ल्ड कप मिला कर ये 2000 रन और 6 शतक मारने वाले प्रथम क्रिकेटर बने . ये रिकॉर्ड अभी तक कोई क्रिकेटर नहीं बना पाया है।

सचिन तेंदुलकर के मैच रिकार्ड्स (Match Record) :

इन्होंने ने टोटल 200 टेस्ट मैच खेले है . जिसमे 51 शतक और 68 अर्धशतक बनाई है।

इन्होने 463 वन डे मैच में अपना प्रदर्शन किया है और 49 शतक और 96 अर्धशतक बनाई है।

इन्होंने केवल एक टी 20 मैच खेला है, इस मैच में इन्होंने 10 रन बनाए और 2 चौके मारे है।

इन्होंने अपने करियर में आईपीएल के कुल 78 मैच खेले, जिसमे 295 चौके और 29 छक्के मारकर, एक शतक और 13 अर्धशतक बनाई ।

सचिन तेंदुलकर इंटरनेशनल डेब्यू (International Debut of Sachin Tendulkar ) :

ODI18 दिसम्बर 1989 इंडिया और पाकिस्तान गुजरांवाला
TEST15 नवम्बर 1989 इंडिया और पाकिस्तान कराची
T201 दिसम्बर 2006 इंडिया और साउथ अफ्रीका जोंसबर्ग

अवार्ड्स और सम्मान ( Awards And Accolades ) :

2013 में भारत रत्न पद्मश्री, 1999 विसडन क्रिकेटर ऑफ़ द इयर, 1997 राजीवगांधी खेलरत्न अवार्ड , 1997 पद्म विभूषण ,2008 सर गरफील्ड सोबर्स ट्राफी, 2010 विसडन लीडिंग क्रिकेटर इन द वर्ल्ड, 2010 महाराष्ट्र भूषण अवार्ड, 2001 एल जी पीपल्स चॉइस अवार्ड, 2010 आउटस्टैंडिंग अचीवमेंट इन स्पोर्ट्स, 2010 अर्जुन अवार्ड, 1994 आई सी सी ओ डी आई टीम ऑफ़ द इयर 2010 , 2007 , 2004 कैस्ट्रोल इंडियन क्रिकेटर ऑफ़ द इयर, 2011 विसडन इंडिया आउटस्टैंडिंग अचीवमेंट अवार्ड, 2012 वर्ल्ड टेस्ट XI 2011 , 2010 , 2000 पीपल्स चॉइस अवार्ड, 2010 बी सी सी आई क्रिकेटर ऑफ़ द इयर 2011

Join us on Telegram

RELATED ARTICLES

सुरेश रैना का जीवन परिचय | Suresh Raina Biography in Hindi

सुरेश रैना की जीवनी (जन्म, एजुकेशन और परिवार), क्रिकेट करियर और रिकार्ड्स | Suresh Raina Biography, Cricket Career and Records in...

एक्टर, पहलवान दारा सिंह के जीवन की असल कहानी | Dara Singh Biography in Hindi

दारा सिंह कुश्ती के शहंशाह| Dara Singh Biography in Hindi दारा सिंह जी. जिन्होंने खेल जगत के साथ अपने...

Ram murti naidu biography in hindi | राममूर्ति नायडू (पहलवान) का जीवन परिचय | कलयुग का भीम

राममूर्ति नायडू का जन्म अप्रैल 1882 मे आंध्र प्रदेश के एक छोटे से गांव वीराघट्टम मे हुआ। जब वह छोटे थे तब उनकी माता का स्वर्गवास हो गया। इसके बाद उनके पिता वेंकन्ना ने उनको बड़े लाड प्यार से पाला। राम मूर्ति की अक्सर उनके दोस्तों के साथ लड़ाई हो जाती थी इसलिए उनके पिता ने उनको विज़ियानागारं उनके अंकल के पास पढ़ाई करने भेज दिया। वहां जाकर उन्होंने फिटनेस सेंटर जॉइन किया और रेसलिंग सीखी। इसके बाद उन्होंने मद्रास में भी रेसलिंग सीखी।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आचार्य विनोबा भावे का जीवन परिचय | Acharya Vinoba Bhave biography in hindi

पूरा नामविनायक राव भावेदूसरा नामआचार्य विनोबा भावेजन्म11 सितम्बर सन 1895जन्म स्थानगगोड़े, महाराष्ट्रधर्महिन्दूजातिचित्पावन ब्राम्हणपिता का नामनरहरी शम्भू रावमाता का नामरुक्मिणी देवीभाइयों के...

आदि शंकराचार्य जीवनी | Adi Shankaracharya Biography In Hindi

शकराचार्य उच्च कोटि के संन्यासी, दार्शनिक एवं अद्वैतवाद के प्रवर्तक के रूप में प्रसिद्ध हैं। जिस प्रकार सम्राट् चंद्रगुप्त ने आज से...

संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत में सर्वश्रेष्ठ जीवन बीमा पॉलिसी 2022 | USA and India Best life insurance 2022

बहुत लंबे समय से, भारत में जीवन बीमा को एक वैकल्पिक खरीद के रूप में माना जाता रहा है। किसी व्यक्ति के...

केंद्र सरकार ने 2022-2027 के लिए New India Literacy Programme को मंजूरी दी

Table of contentsमुख्य बिंदुइस योजना को कैसे लागू किया जायेगाउद्देश्य केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 और बजट...

Recent Comments