Thursday, August 11, 2022
Home Quotes दीपावली का ऐतिहासिक महत्व व जानकारियां | Deepawali Festival in Hindi

दीपावली का ऐतिहासिक महत्व व जानकारियां | Deepawali Festival in Hindi

Rate this post

दीपावली (दीवाली) त्यौहार का ऐतिहासिक, व्यवासायिक, वैज्ञानिक महत्व | Historical, Mythological and Scientifically Importance of Deepawali/Diwali Festival in Hindi | Happy choti diwali, choti Diwali 2021, choti Diwali, choti diwali images, chhoti diwali 2021, Happy Chhoti Diwali, chhoti diwali, diwali in hindi, happy deepavali, diwali celebration, happy deepavali wishes, happy diwali wishes in hindi, deepavali, diwali wishes, diwali 2021, happy diwali

प्रतिवर्ष कार्तिक माह की अमावस्या के दिन हिंदू समाज में दीपावली का पर्व धूमधाम से मनाया जाता है. आलोक पर्व दीपावली भारत का सर्वाधिक लोकप्रिय तथा उल्लासपूर्ण त्यौहार है. दीपावली शब्द का अर्थ है दीपों की अवली अथवा पंक्ति. दीपों की माला जलाकर अमावस की रात को पूर्णिमा की तरह जगमगाहट से भर देने के कारण से इस पर्व को दीपावली कहते हैं. इस दिन घर को दीपों से सजाया जाता है. एक साथ असंख्य दीपों की जगमगाती माला से संपूर्ण वातावरण प्रकाशित हो उठता है.

diwali in hindi, happy deepavali, diwali celebration, happy deepavali wishes, happy diwali wishes in hindi, diwali wishes in hindi, deepavali, diwali wishes, diwali 2021, happy diwali.

घर-घर में लक्ष्मी जी और गणेश जी की पूजा की जाती है. लोग इस दिन आपसी द्वेष को भूल कर एक दूसरे के घर जाते हैं और मिठाइयां बांटते हैं. बच्चों के लिए यह दिन विशेष खुशी का दिन होता है. बच्चे नए कपड़े पहन कर रात्रि में जी भरकर पटाखे चलाते हैं और घूमते हैं. पूरा शहर रोशनी में स्नान करता नजर आता है. लोग अपने घर दुकान तथा कारखानों की सफाई करते हैं, रंग-रोगन कर उन्हें सजाते हैं. दीपावली एक राष्ट्रीय पर्व है.

दीपावली का पौराणिक एवं ऐतिहासिक महत्व(Historical Importance of Deepawali)

दीपावली का पौराणिक महत्व है इसका संबंध पुराणों में वर्णित भारतीय समाज के प्राचीन इतिहास से है. इस दिन माता काली ने रक्तबीज नामक दुष्ट का संहार किया था, जिसके अत्याचार से संपूर्ण समाज त्रस्त था. उस दुष्ट के संहार के बाद लोगों ने अपने घर में घी के दिए जलाए थे. इस मंगलकारी घटना की याद में प्रतिवर्ष दीपावली मनाई जाती है.

लंका विजय के बाद जब भगवान राम अयोध्या लौटे तो इस दिन उनका राजतिलक किया गया था. संपूर्ण देश में इस उपलक्ष में दीपक जलाकर खुशियां मनाई गई थी. कुछ लोग दीपावली का प्रारंभ किसी दिन से मानते हैं जबकि अनेक विद्वानों के द्वारा दीपावली का त्यौहार इससे भी अधिक प्राचीन काल से मनाया जा रहा है. इस मत के अनुयाई दीपावली पर्व का संबंध मां काली द्वारा रक्तबीज के संहार से मानते हैं.

Happy Diwali

diwali in hindi, happy deepavali, diwali celebration, happy deepavali wishes, happy diwali wishes in hindi, diwali wishes in hindi, deepavali, diwali wishes, diwali 2021, happy diwali.

इसी दिन भगवान विष्णु ने अत्याचारी हिरण्यकश्यप को मारकर भक्त प्रहलाद की रक्षा भी की थी. समुद्र मंथन से धन की देवी लक्ष्मी का अवतरण भी इसी दिन हुआ था. जैन धर्म के चौबीसवे अवतार भगवान महावीर स्वामी का निर्वाण दिवस होने के कारण जैन समाज के लोग बड़े आनंद और उल्लास के साथ इसे मनाते हैं. आर्य समाज भी इसे बड़ी प्रसन्नता से मनाते हैं क्योंकि आर्य समाज के संस्थापक महर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती जी का जन्म दीपावली के दिन ही हुआ था. इस प्रकार इन महापुरुषों की स्मृति को चिरस्थाई रखने के लिए यह त्यौहार बड़े समारोह पूर्वक मनाया जाता है.

दीपावली का वैज्ञानिक महत्व (Importance of Deepawali)

दीपावली का पौराणिक एवं ऐतिहासिक महत्व के साथ-साथ वैज्ञानिक महत्व भी है. वर्षा ऋतु में कीड़े मकोड़े, जल में घास फूस एवं गंदगी के सड़ने से उत्पन्न विषैली गैस तथा घर-मकान में व्याप्त सीलन को दूर करने में दीपावली के त्यौहार की महत्वपूर्ण भूमिका है.

diwali in hindi, happy deepavali, diwali celebration, happy deepavali wishes, happy diwali wishes in hindi, diwali wishes in hindi, deepavali, diwali wishes, diwali 2021, happy diwali.

लोग दीपावली के त्योहार से पहले ही घर एवं आसपास की सफाई प्रारंभ कर देते हैं. घर एवं दुकानों पर पुताई तथा रंगरोगन कराते हैं. प्राचीन काल में दीपावली के दिन सरसों के तेल से वातावरण शुद्ध होता था और कीड़े मकोड़े इसकी दीपशिखाओं पर जल मरते थे.

दीपावली का व्यवसायिक महत्व (Professional Importance of Deepawali)

दीपावली के दिन व्यवसायी लक्ष्मी जी की पूजा करते हैं. इस दिन से किसी व्यवसायिक कार्य का आरंभ शुभ समझा जाता है इसके पीछे कुछ वैज्ञानिक कारण भी रहे हैं. इस समय तक वर्षा ऋतु पूरी तरह समाप्त हो जाती है. यात्रा तथा व्यवसायिक कार्य के लिए समय उपयुक्त होता है. किसानों के घर भी प्राचीन काल में धान की फसल कटकर आनी प्रारंभ हो जाती है. उन्हें अपनी कृषि संबंधी आवश्यक सामग्री का क्रय इसी समय करना होता था. इन कारणों से प्राचीन काल में इसका महत्व स्थापित हो गया है, जो परंपरागत रूप से आज तक प्रचलित है.

दीपावली का दार्शनिक महत्व (Philosophical significance of Deepawali)

दीपावली को प्रकाश पर्व भी कहा जाता है यह अंधेरे में प्रकाश की तथा असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है. यह इस दार्शनिक तथ्य को अभिव्यक्त करता है कि अंधेरा कितना भी घना हो, ज्ञान और कर्तव्य का सामूहिक दीप उस अंधेरे को प्रकाश में बदल देता है. किसी समाज के उत्थान के लिए प्रेरक तथ्य को वाणी देते हुए दीपमाला की अगणित शिखाएं हमसे यह कहते प्रतीत होती है कि हमारी तरह जलकर देखो, तुमसे भी प्रकाश की किरणें बिखरने लगेगी, जो समाज में छाए अंधेरे को मिटा देगी.

diwali in hindi, happy deepavali, diwali celebration, happy deepavali wishes, happy diwali wishes in hindi, diwali wishes in hindi, deepavali, diwali wishes, diwali 2021, happy diwali.

दीपावली से लाभ (Benefits of Deepawali)

दीपावली केवल त्यौहार नहीं है अपितु इसके अनेक लाभ है. घर मोहल्लों की सफाई वातावरण की शुद्धि, आपसी सद्भाव की भावना का विकास तथा नए कार्य एवं नई योजनाओं को प्रारंभ करने की प्रेरणा के साथ साथ दीपावली हमें अंधेरे से, अज्ञानता से, असत्यता से लड़ने का भी संदेश देती है.

दीपावली से हानि (losses of Deepawali)

मनुष्य सामाजिक प्राणी है जो अपने आंतरिक विचारों तथा अज्ञानतापूर्ण कार्यों के द्वारा लाभप्रद रीति रिवाजों को भी हानिकारक बना देता है. दीपावली के दिन जुआ खेलने शराब पीने और गलत आचरण से विनाश को आमंत्रित करने वालों की भी आज कमी नहीं है. ऐसे लोगों के लिए दीपावली का त्यौहार लाभ के बदले हानि को आमंत्रित करता है.

diwali in hindi, happy deepavali, diwali celebration, happy deepavali wishes, happy diwali wishes in hindi, diwali wishes in hindi, deepavali, diwali wishes, diwali 2021, happy diwali.

किसी भी त्यौहार को मनाने के समय उसमें निहित कल्याण का अर्थ को भी समझना चाहिए. दीपावली के त्यौहार में भी यही दृष्टिकोण अपनाना उचित होगा, तभी हम इस का आनंद प्राप्त कर सकते हैं. दीपावली का दीप हमें प्रेरणा देता है.

दीपावली का त्यौहार जीवन को आनंदमय और शरद बनाने वाला उत्सव होना चाहिए. भारतवासियों को अपने देश से अज्ञान के अंधकार को दूर करना चाहिए और ज्ञान के प्रकाश से सब जगह प्रसन्नता एवं ऐश्वर्य को लाना चाहिए. अशिक्षा जात पात का भेदभाव एवं गरीबी के अंधेरे को दूर करके देश के जन-जन में दीपावली का प्रकाश भरना चाहिए.

Subscribe our Telegram channel for more information

Happy choti diwali, choti Diwali 2021, choti Diwali, choti diwali images, chhoti diwali 2021, Happy Chhoti Diwali, chhoti diwali, diwali in hindi, happy deepavali, diwali celebration, happy deepavali wishes, happy diwali wishes in hindi, deepavali, diwali wishes, diwali 2021, happy diwali

RELATED ARTICLES

संत श्री रामकृपालु त्रिपाठी जी का जीवन परिचय | Ram Kripalu Tripathi Biography In Hindi

जगतगुरु कृपालु महाराज एक आधुनिक संत और आध्यात्मिक गुरु थे. इनका वास्तविक नाम राम कृपालु त्रिपाठी था. कृपालु महाराज का जन्म प्रतापगढ़ जिले की कुंडा तहसील के निकट एक छोटे से मनगढ़ गाँव में 6 अक्टूबर 1922 को हुआ था . वाल्यावस्था से लेकर योवनावस्था तक ये अपने ननिहाल मनगढ़ में ही रहे.

पंडित श्री प्रदीप जी मिश्रा की जीवनी | Pandit Pradeep Ji Mishra Biography In Hindi

पंडित श्री प्रदीप जी मिश्रा एक प्रसिद्ध भजनकार व कथाकार है जो अपने भजनों के लिए प्रसिद्ध है. उनका उपनाम रघु राम है. उन्होंने स्थानीय हाई स्कूल में पढ़ाई की है और वह स्नातक पास है. वह सीहोर मध्य प्रदेश से हैं. वह एक अंतरराष्ट्रीय कहानीकार भी हैं तथा साथ ही साथ वे आस्था चैनल में भजन और आरती के प्रस्तुतकर्ता भी हैं.

Happy Diwali Wishes 2021

Diwali, chhoti diwali, diwali in hindi, happy deepavali, diwali celebration, happy deepavali wishes, happy diwali wishes in hindi, deepavali, diwali wishes, diwali 2021, happy diwali, diwali wishes in English, deepavali wishes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आचार्य विनोबा भावे का जीवन परिचय | Acharya Vinoba Bhave biography in hindi

पूरा नामविनायक राव भावेदूसरा नामआचार्य विनोबा भावेजन्म11 सितम्बर सन 1895जन्म स्थानगगोड़े, महाराष्ट्रधर्महिन्दूजातिचित्पावन ब्राम्हणपिता का नामनरहरी शम्भू रावमाता का नामरुक्मिणी देवीभाइयों के...

आदि शंकराचार्य जीवनी | Adi Shankaracharya Biography In Hindi

शकराचार्य उच्च कोटि के संन्यासी, दार्शनिक एवं अद्वैतवाद के प्रवर्तक के रूप में प्रसिद्ध हैं। जिस प्रकार सम्राट् चंद्रगुप्त ने आज से...

संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत में सर्वश्रेष्ठ जीवन बीमा पॉलिसी 2022 | USA and India Best life insurance 2022

बहुत लंबे समय से, भारत में जीवन बीमा को एक वैकल्पिक खरीद के रूप में माना जाता रहा है। किसी व्यक्ति के...

केंद्र सरकार ने 2022-2027 के लिए New India Literacy Programme को मंजूरी दी

Table of contentsमुख्य बिंदुइस योजना को कैसे लागू किया जायेगाउद्देश्य केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 और बजट...

Recent Comments