Saturday, October 1, 2022
Home लेखक / Author Harry Potter Book Author J. K. Rowling | जे॰ के॰ रोलिंग जीवनी...

Harry Potter Book Author J. K. Rowling | जे॰ के॰ रोलिंग जीवनी | Biography of J. K. Rowling in Hindi

Rate this post

J. K. Rowling, जे के रोलिंग, Harry Potter Book Author, J K Rowling biography in hindi, Harry Potter Book in hindi

जन्म और प्रारंभिक शिक्षा (JK Rowling Birth and Education)

J K Rowling biography in hindi

जे. के. रोलिंग (J. K. Rowling) का जन्म 31 जुलाई 1965 येट ग्लोसेस्टरशायर इंग्लैंड में हुआ था, उनके पिता एक एयरक्राफ्ट इंजिनियर और माँ एक विज्ञान तकनीशियन थी। जे. के. रोलिंग की एक ढाई साल छोटी बहन थी जिसे बचपन में वे अकसर मायावी दुनिया की कहानियां लिखकर सुनाया करती थीं।

जब वे एक teenager थी, तब उनकी एक रिश्तेदार ने उन्हें जेसिका मिटफोर्ड की आटोबायोग्राफी “होन्स एंड रेबेल्स” पढने को दी! जे के रोलिंग को वह इतनी अच्छी लगी की मिटफोर्ड उनकी हिरोइन बन गयी और उनकी सारी किताबें रोलिंग ने पढ़ डालीं।

जे. के. रोलिंग (J. K. Rowling) के अनुसार, उनके किशोरावस्था के दिन बहुत अच्छे नहीं थे, उनकी माँ बीमार रहती थीं और उनके माता पिता में अकसर झगडा होता रहता था। स्कूल में उनकी उपलब्धि कोई विशेष नहीं थी, केवल वे एक अच्छी स्टूडेंट थी। उन्होंने इंग्लिश, जर्मन और फ्रेंच भाषाओँ में A लेवल से परीक्षा पास की।

इसके बाद उन्होंने प्रसिद्ध ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के लिए प्रवेश परीक्षा दी, परन्तु उन्हें प्रवेश नहीं मिला, इसलिए उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ़ एक्सीटर से फ्रेंच और क्लासिक्स में BA किया ।

ग्रेजुएशन के बाद जे के रोलिंग ने एमनेस्टी इंटरनेशनल, और चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स में छोटी जॉब्स कीं। एक दिन जब वे मेनचेस्टर से लन्दन आ रही थीं तो उनकी ट्रेन चार घंटे लेट हो गयी, इसी सफ़र के दोरान उन्हें एक लड़के की कहानी, जो जादुई स्कूल में पढने जा रहा है, लिखने का आयडिया आया.

1982 मै रोवलिंग ने Oxford University मै Entrance के लिए exam दिया लेकिन वहाँ उनका सिलेक्शन नहीं हो पाया और इसीलिए मजबूरन उन्हें University of Exeter से पढाई पूरी करनी पड़ी । इस यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद उन्होंने Amnesty International कंपनी मै सेक्रेटरी के तौर पर काम किया और फिर उन्होंने मेनचेस्टर मै रहकर चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स मै काम किया । जब वो मेनचेस्टर से लन्दन आने के लिए ट्रेन से सफ़र कर रही थी तो उनके मन मै जादूगरी के स्कूल मै पढने वाला यंग बॉय की कहानी आई । उसे उन्होंने अपने मन मै पूरी तरह से गढ़ लिया और लंडन मै अपने कैंपस पहुची तो उन्होंने तुरंत लिखना शुरू कर दिया । और उसके कुछ दिनों बाद उनके माँ की मृत्यु हो गई, रोवलिंग की माँ उनके सबसे करीबी थी । उसका प्रभाव उनके लेखन पर भी पड़ा । वह दुखी रहने लगी लेकिन आगे चलके अपने गम को भुलाने के लिये लेखन का सहारा लिया और अपना समय लिखने मै बिताने लगी । कुछ दिनों बाद जॉब की वजह से वो पोर्तुगाल चली गई जहाँ उन्हें इंग्लिश पढ़ाने का काम मिला । वो रात मै जॉब करती और दिन मै लेखन का काम करती ।

पोर्तुगाल मै उनकी मुलाकात हुई journalist Jorge Arantes ( jk rowling husband ) से, दोनों के विचार आपस मै काफी मिलते जुलते थे और इसीलिए दोनोने 16 अक्टूबर 1992 को शादी कर ली । उनकी बेटी हुई उसका नाम उन्होंने जेसिका ( jk rowling daughter ) रखा । लेकिन बादमे रोवलिंग ने 17 नवम्बर 1993 को तलाख ले लिया । उसके बाद रोवलिंग अपने बच्ची के साथ अपनी बहेन के वहाँ स्कॉटलैंड रहने गई । तब तक रोवलिंग ने हैरी पॉटर के 3 चैप्टर लिख चुकी थी ।

Harry Potter Idea (हैरी पॉटर आइडिया) 💡

एक बार मेनचेस्टर से लंदन के सफ़र के दौरान ‘Harry Potter” की कहानी उनके दिमाग में आई. वह तुरंत ही इसे कागज पर उतार लेना चाहती थी, किंतु उस समय उनके पास पेन नहीं थी. वह इतनी संकोची हुआ करती थी कि आस-पास के किसी व्यक्ति से एक पेन भी नहीं मांग सकी. सफ़र पूरा कर घर पहुँचकर सबसे पहला काम उन्होंने इस कहानी को लिखने का किया. हालांकि, वे बचपन से ही कहानियां लिखा करती थी, किंतु ‘Harry Potter” की कहानी उनके दिमाग में बस गई थी. उनसे बाद जब भी समय मिलता, वे इस कहानी पर काम किया करती थी.

हैरी पॉटर के बाद कार्य (After Harry Potter)

हालाँकि हैरी पॉटर श्रृंखला खत्म हो चुकी है पर रोलिंग अभी अन्य लेखन कार्यो में काम कर रही है।’द टेल्स ऑफ़ बीडल द बार्ड’- पांच कल्पित कथाओ का संग्रह जिसका उल्लेख हैरी पॉटर में किया गया था, उसका सर्व प्रथम प्रदर्शन एडिनबुर्ग में स्कॉटलैंड के राजकीय पुस्तकालय में २०० स्कूल विद्यार्थियो के समक्ष हुआ। रोलिंग ने पुस्तक की सारी कमाई ‘चिल्ड्रन हाई लेवल ग्रुप’ संस्था को दे दी जिसकी वो सह संस्थापक थी। २०१३ में रोलिंग ने अपराध परि कल्पना की रचना शैली में लिखने का प्रयास किया परन्तु वो अपने में ही बहुत रहस्य पूर्ण थी। उसी वर्ष रोलिंग ने ‘वार्नर ब्रोस’ के साथ एक नयी फ़िल्म निकालने की घोषणा की जो हैरी पॉटर से प्रभावित तो होगी परन्तु उसका भाग नहीं। उन्होंने अपनी वेब साइट पे घोषित किया की वे हैरी पॉटर का विश्व कोश लिखेंगी जिस की सारी कमाई संस्थाओ को जाएँगी।

माँ की मृत्यु और विवाह (Mother’s Demise and Marriage)

रोलिंग की माता स्केलोरोसिस के रोग से ग्रसित थी. लंबी बीमारी के बाद १९९० में उनका निधन हो गया. रोलिंग अपनी माता के बहुत करीब थी. उनका निधन उनके लिए सदमे से कम नहीं था. वह अंदर से टूट गई और इंग्लैंड छोड़कर पुर्तगाल चली गई. वहाँ वे अंग्रेजी पढ़ाने लगी. वहीँ उनकी मुलाकर एक टी.वी. जर्नलिस्ट ‘जॉर्ज अरांटस’ से हुई और दोनो ने विवाह कर लिया. एक वर्ष बाद उनकी बेटी ‘जेसिका’ का जन्म हुआ.

वैवाहिक तनाव और तलाक (Marriage Tension and divorce)

वैवाहिक जीवन उनके लिए सुखद नहीं रहा. वह घरेलू हिंसा का शिकार रही. विवाह के मात्र तेरह माह के बाद एक दिन सुबह ५ बजे उनके पति ने उन्हें घर से बाहर निकाल दिया. उनकी बच्ची उस समय एक माह ही थी, जिसे लेकर वे अपनी बहन के घर एडिनबर्ग चली गई. उस समय उनके पास एक सूटकेस और उनके नॉवेल ‘Harry Potter & the Philocopher’s Stone’ की मेनुस्क्रिप्ट के तीन चैप्टर थे.

विवाह टूटने के बाद रोलिंग बहुत तनाव में आ गई. कुछ समय अपनी बहन के साथ रहने के बाद उन्होंने अपने पति के खिलाफ तलाक का केस दायर कर तलाक ले लिया.

पुरस्कार और सम्मान (Awards and Accolades)

  • 1997: नेस्ले स्मर्तीएस पुस्तक पुरस्कार, गोल्ड अवार्ड- हैरी पॉटर और पारस पत्थर।
  • 1998: नेस्ले स्मर्तीएस पुस्तक पुरस्कार, गोल्ड अवार्ड- हैरी पॉटर और रहस्य के चैंबर।
  • 1999: नेस्ले स्मर्तीएस पुस्तक पुरस्कार, गोल्ड अवार्ड- हैरी पॉटर और अज़्काबान का क़ैदी।
  • 2000: ब्रिटिश पुस्तक पुरस्कार, यह साल कि लेखक।
  • 2000: लोकस पुरस्कार- हैरी पॉटर और अज़्काबान का क़ैदी।
  • 2001: ह्यूगो पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ उपन्यास के लिए- हैरी पॉटर और आग का प्याला।
  • 2006: ब्रिटिश बुक ऑफ़ द इयर- हैरी पॉटर और आधा-ख़ून राजकुमार।
  • 2007: ब्लू पीटर बैज, गोल्ड
  • 2012: फ्रीडम ऑफ़ द सिटी ऑफ़ लंदन
RELATED ARTICLES

प्रभात कुमार मुखोपाध्याय का जीवन परिचय | Prabhat Kumar Mukhopadhyay Biography in Hindi

बंगाली भाषा के मशहूर लेखक और उपन्यासकार प्रभात कुमार मुखोपाध्याय की जीवनी | Bengali Novelist and Story Writer Prabhat Kumar Mukhopadhyay...

कृष्णभक्त रसखान का जीवन परिचय | Raskhan Biography in Hindi

कृष्ण भक्त रसखान का जीवनी, नाम कहानी, मृत्यु और उनकी रचनाएँ | Poet Raskhan Biography, Name story, Death and poetry in...

श्रीराम शर्मा आचार्य जी का जीवन परिचय | Pandit Shriram Sharma Acharya Biography in Hindi

समाज सुधारक और लेखक पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य जी का जीवन परिचय और सुविचार | Pandit Shriram Sharma Acharya Biography and...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आदि शंकराचार्य जीवनी | Adi Shankaracharya Biography In Hindi

शकराचार्य उच्च कोटि के संन्यासी, दार्शनिक एवं अद्वैतवाद के प्रवर्तक के रूप में प्रसिद्ध हैं। जिस प्रकार सम्राट् चंद्रगुप्त ने आज...

राम नारायण सिंह (स्वतंत्रता सेनानी, सांसद) का जीवन परिचय | Ram Narayan Singh Biography in Hindi

प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी, सामाजिक कार्यकर्ता और राजनेता राम नारायण सिंह का जीवन परिचय | Ram Narayan Singh Biography (Birth, Career and...

के. सी. पॉल (फुटपाथ पर रहने वाला वैज्ञानिक) की पूरी कहानी और संघर्ष

के. सी. पॉल (फुटपाथ पर रहने वाला वैज्ञानिक) की जीवनी, कार्य और जीवन संघर्ष | K. C. Paul Biography, Work and...

अजीमुल्लाह खान (स्वतंत्रता सेनानी) का जीवन परिचय | Azimullah Khan Biography in Hindi

अजीमुल्लाह खान (स्वतंत्रता सेनानी) का जीवनी, 1857 की क्रांति में योगदान और मृत्यु | Azimullah Khan Biography,1857 Revolt and Death Story...

Recent Comments